परहित में किये गए प्रत्येक कार्य का श्रेय हमें प्रभु को ही देना चाहिए