आपका उद्देश्य और हालात दूसरों से अलग हो सकते हैं अतःअपनी राह खुद चुनिए

" Your aim and circumstances may be different from others hence always choose your own path."



उक्त कथन में सन्देश मात्र इतना है कि भीड़ के पीछे बिना सोचे चलते रहने के बजाय हर किसी को विचारपूर्वक अपनी दिशा निश्चित करनी चाहिए क्योंकि सभी के जीवन का लक्ष्य और उसे प्राप्त करने की विधि एक समान हों ये जरूरी नहीं है।


जो भी ये बात भली-भांति समझ जाता है वह आश्चर्यजनक कार्य करने में सफल हो जाता है।


इसी सोच से सवाल उठा कि कैंसर की आख़िरी अवस्था के मरीजों को रखकर उनकी देखभाल करने का विचार कहां तक सार्थक है ? और तब इसके उत्तर स्वरूप बतौर निष्कर्ष ये समझ में आया कि :-

" जहां सारे विकल्प समाप्त हो जाते हैं वहां मानवीय संकल्प का उदय होता है।"


मप्र के जबलपुर, नगर में 6 वर्ष पूर्व लीक से हटकर ऐसा संकल्प लिया गया जो न सहज था और न ही स्वाभाविक।


<